Https Kya Hota Hai Aapke Liye Koun Secure Hai

Https Kya Hota Hai Aapke Liye Koun Secure Hai

दोस्तों मैं आपको बतादू की कभी आप किसी website को खोलते है और कुछ time बाद फिर उसी website को खोले है तो आपको जरुर कुछ न कुछ अलग देखने को जरुर मिलेगा | अगर आपको ऐसा कोई website दिखता है तो समझ जाये की वो नकली website है | वो आपके लिए secure नहीं है |



technology के बढ़ने के साथ लोगो को froud का शिकार होना पड़ रहा है, भले ही आप shoping, mobile आदि क्यों न कर रहे हो | आपके साथ froud हो ही जाता है |

आप किसी website को खोलते है तो आपको ऊपर left side में https:// दिखता होगा और किसी में http:// अगर आप नहीं जानते की https और http क्या अंतर है, तो इस artical को last तक जरुर पढ़ियेगा |

https://www.shoutforhelps.com/

Http Kya Hai ?


http का पूरा नाम है hypertext transfer protocol तो आप internet पर जो भी कुछ देखते है वो सब इनके दम पर ही चलते है जिसकी वजह से आप अपने information को exchange कर सकते है | लेकिन आपको जिस website पर सिर्फ http मिलता है वो secure नहीं होते है | 

अगर आप ऐसे किसी website पर कुछ भी type कर ते है वो बिलकुल प्लेन text में होते है, इसका मातब यह है की अगर किसी hacker ने उस website की मदद से आपकी जानकारी जानने की कोसीस करेगा तो वो आपके आपके सभी information बिलकुल साफ देख सकता है |



जैसे की आपने net banking use किया और उसमे आपने अपने सभी डिटेल्स डाला हो कोई भी हैकर आपके card number, account number उसके सभी डिटेल्स को जा सकता है |

 Https Ka Kya Matlab Hai ?


इसमें आपको https के अन्त में S देखने को मिलता है जिसका मतलब है secure इससे यह फायदा है की अगर कोई 3rd person हमारे किसी information को देख भी लेता है तो वो ये नहीं पता लगा सकता की आखीर उसमे लिखा क्या था वो सभी code की तरह होते है |

इसी लिए आपको ज्यादा तर https बड़े - बड़े shoping website, banking, social network पर मिलते है | जिसके कारण किसी भी व्यक्ति का कोई भी information कोई न ले पाये |



या कोई popular website हो वहा पर मिलते है आज के तारीख में आपको blogs site पर भी मिलते है जिनसे https होने से google भी उस website को जल्दी से रैंक करता है |

इसी लिए आप जब भी कोई चीज किसी website से ले रहे हो जहा पर सिर्फ http हो तो वहा पर कोई भी information न दे क्यों न वो आपको कितना भी discount क्यों न दे इससे आपको बहुत नुक्सान हो सकता है |

Conclusion

https/http मे क्या अन्तर है ये आपको तो समझ मे आ ही गया होगा यदि आपके मन मे कोई सवाल है तो comment कर सकते है और अपने को सुरछित रखे |
Tag : kownledge
Back To Top